50 करोड़ 70 लाख 58 हजार की योजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास

खटीमा – माननीय मुख्यमंत्री हरीष रावत  द्वारा आज खटीमा
विकास खंड में 50 करोड़ 70 लाख 58 हजार धनराशी की योजनाओं का लोकार्पण व
शिलान्यास किया गया। माननीय मुख्यमंत्री द्वारा रा. उ.मा. वि. सिसैया खटीमा
में मुख्य भवन, रा.उ.मा.वि. बिरिया मझोला में मुख्य भवन, रा.उ.मा.वि.
मझोला में मुख्य भवन, रा.उ.मा.वि. सरपुड़ा मुख्य भवन के निर्माण कार्यों का
व सिंचाई विभाग के अंतर्गत एस.पी.ए. के अंतर्गत ग्राम सिसैया मेलाघाट को
जगबूढ़ा नदी एवं ग्राम बंडिया को प्रवीन नदी की बाढ़ से बचाने हेतु बाढ़
सुरक्षा योजना, ग्राम अंजनिया, खैरान व मटिहा को कैलाष नदी एवं ग्राम
विद्धैया को देवहा नदी के बाढ़ से बचाने हेतु बाढ़ सुरक्षा कार्यों का
लोकार्पण किया।

 श्री रावत द्वारा लो.नि.वि. के अंतर्गत सैजना पुल से
उमरूकला, बिचई बहादुर बोरा के घर तक मार्ग का नवनिर्माण, बिगराबाग से
उमरूकला बिचई मार्ग का नवनिर्माण, राज्य योजना के अंतर्गत ग्रामसभा टिगरी
भुड़ाई से सागर कालोनी मार्ग का निर्माण, मुख्य मार्ग हनुमान गढ़ी से
प्रा.पा. पचैरिया तक मार्ग का पुनर्निर्माण विकास खण्ड खटीमा के अंतर्गत
पाॅली हाउसों के स्थापना, ग्राम अमाऊ में नये नलकूप का छिद्रण कार्य एवं
राजीवनगर में पाइप लाइन विस्तार कार्य, ग्राम पकडि़या में ओवरहेड टैंक का
निमार्ण एवं लाइन विस्तार कार्य विकास खंड खटीमा में सैनिक विश्राम गृह का
निर्माण विधानसभा क्षेत्र नानकमत्ता में नाबार्ड के अंतर्गत नानकमत्ता नहर
एवं गूलों का आधुनिकीकरण एवं पुनरोद्धार याजना व खटीमा नहर नं.2, नहर नं.7,
नहर नं.9 एवं लोहियानगर प्रणाली के आधुनिकीकरण एवं पुनरोद्धार की योजना का
षिलान्यास किया गया। श्री रावत द्वारा 21 करोड़ 21 लाख 91 हजार की योजनाओं
का लोकार्पण व 29 करोड़ 48 लाख 67 हजार की योजनाओं का षिलान्यास किया गया।
विषाल जनसभा को संबोधित करते हुए श्री रावत ने कहा षासन जनता के निकट
दिखाई दे इसके लिए सभी अधिकारी व जनप्रतिनिधि आपसी तालमेल से कार्य करें।
उन्होंने कहा कि हमारी सरकार द्वारा हर वर्ग के लोगों को पेंशन  उपलब्ध कराई
जा रही है। उन्होंने कहा इस कार्य में कोई भी कोताही बर्दाश्त  नहीं की
जायेगी। प्रत्येक पेंशन पाने वाले के खाते में हर 3 माह के अंतराल में समय
से पेंशन उपलब्ध हो जानी चाहिए। उन्होंने कहा हमारा पेंशन देश का प्रथम
प्रदेश है जिसने किसानों हेतु पेंशन मुहैया कराई है। उन्होंने कहा मौसम की
मार को देखते हुए किसानों की ऋण वसूली में 6 माह रोक लगा दी गई है साथ ही 6
माह का लगान व 6 माह तक बिजली का सरचार्ज किसानों को माफ किया जाता है।
उन्होने कहा किसानों को कीटनाशक मुफ्त उपलब्ध कराया जायेगा वहीं हल्दी व
अदरक के बीजों में 75 प्रतिशत की सब्सिडी उपलब्ध कराई जायेगी। उन्होंने कहा
कि उत्तराखण्ड में पर्वतीय खेती को पुनर्जीवित करने के लिए कार्य किये जा
रहे हैं। 
    उन्होंने कहा महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए शीघ्र ही
1000 महिला कांस्टेबिलों के भर्ती की जायेगी साथ ही महिलाओं को पी.आर.डी. व
होमगार्ड में वरीयता दी जायेगी। उन्होंने कहा कि विद्यालयों में शिक्षा की
गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए सभी अध्यापकों व अभिभावकों को प्रयास करना होगा
ताकि शिक्षा के क्षेत्र में प्रदेश का नाम आगे बढ़ सके। श्री रावत ने कहा
आशा, भोजनमाता व आंगनबाढ़ी कार्यकर्तियों हेतु विषेश बीमा योजना प्रारंभ की
जायेगी। इसके लिए 10 करोड़ रूपये का रिवाल्विंग फण्ड रखा गया है। उन्होंने
कहा आषा भोजनमाता व आंगनबाढ़ी कार्यकर्ती यदि किसी दूसरे विभाग में
परीक्षा देकर आवेदन करना चाहती हों तो उनके लिए 15 प्रतिषत अधिमान दिया
जायेगा। श्री रावत ने कहा सितम्बर माह तक सभी हाईस्कूल व इंटर कालेजों में
सभी टीचरों की भर्ती कर दी जायेगी। श्री रावत ने कहा महिलायें दुग्ध
उत्पादन हेतु आगे आयें उन्हें पुरूश समितियों की अपेक्षा 1 प्रतिशत अधिक
बोनस दिये जायेगा।
    इस अवसर पर जनतादर्शन  कार्यक्रम भी आयोजित किया
गया जिसमें 150 से अधिक लोगों ने अपने शिकायती पत्र दिये जिसमें से अधिकतर
समस्याओं का समाधान माननीय मुख्यमंत्री द्वारा मौके पर ही किया गया।
उन्होंने जिलाधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि आज जो भी शिकायती आवेदन
आये हैं उनकी एक बार समीक्षा कर समस्याओं का निस्तारण करें। जो समस्यायें
राज्य स्तर से हल होने वाली हैं उन्हें शासन स्तर पर प्रेशित किया जाये।     
जनता दर्शन  कार्यक्रम में श्री रावत द्वारा निर्धन कन्याओं के विवाह हेतु 4
कन्याओं को 50-50 हजार की 30 कन्याओं को गौरा देवी कन्याधन योजनांतर्गत
50-50 हजार की एनएससी व पारिवारिक लाभ योजना के अंतर्गत दो पात्रों को
20-20 हजार रूपये धनराशी, दुग्ध उत्पादन सहकारी संघ लि. खटीमा के अंतर्गत
दुग्ध उत्पादन प्रोत्साहन योजनांतर्गत 5 लोगों को 41356 रूपये की धनराशी,
अतिवृश्टि से फसल क्षति पर 12 कृशकों को 26900 रूपये की धनराषि उपलब्ध
कराये गयी, 
इस अवसर पर यशपाल आर्य ने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व हर
विधानसभा क्षेत्र में इस तरह के शिविर लगाने चाहिए जिससे जनअपेक्षाओं के
अनुरूप कार्य हो सकें। उन्होने कहा सरकार द्वारा विकास की धारा को आगे
बढ़ाने की कोषिष की गई है। इस अवसर पर विभिन्न विभागों द्वारा स्टाल लगाये
गये। जनता दर्शन  कार्यक्रम में प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय संसदीय सचिव
हेमेष खर्कवाल, विधायक पुश्कर सिंह धामी, पे्रम सिंह राणा, पूर्व विधायक
गोपाल सिंह राणा, जिलाधिकारी डा. पंकज कुमार पाण्डेय, डी.आई.जी. पुश्कर
सिंह सैलाल, वरिश्ठ पुलिस अक्षीक्षक नीलेष आनंद भरणे सहित अनेक जनप्रतिनिधि
व जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

इनसाइड कवरेज न्यूज़ – www.insidecoverage.in, www.kashipurcity.com, www.adpaper.in

Leave a Reply