सीएम् हरीश रावत ने गुरूद्वारे में मत्था टेक कर की अरदास

 नानकमत्ता – मुख्य मंत्री हरीश रावत ने आज नानकमत्ता साहिब गुरूद्वारा
परिसर में 1.50-1.50 करोड की लागत से बनी स्वर्ण निर्मित पालकी का
श्रद्धापूर्वक अनावरण किया । इससे पूर्व श्री रावत ने गुरूद्वारे में मत्था
टेक कर अरदास की। इस अवसर पर गुरू द्वारा प्रबन्ध कमेटी द्वारा श्री रावत
को गुरूद्वारे का माॅडल एवं सरोपा भेंट किया गया।  

मुख्यमंत्री श्री रावत आज नानकमत्ता में कार सेवा प्रबन्ध कमेटी के
तत्वाधान में आयोजित संगत को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि
नानकमत्ता गुरूनानक देव की कृपा से पवित्र भूमि है यहा निवास करने वाला कोई
व्यक्ति भूखा नही रह सकता है। उन्होंने कहा कि तराई कौमी एकता का गुलदस्ता
है जहां सभी धर्म जाति के लोग आपसी भारे चारे से निवास करते है । उन्हें
यहां के लोगों पर पूरा भरोसा है। श्री रावत ंने क्षेत्र के लोगों से कहा कि
वह शुरू हो रही चार धाम यात्रा व बदरीनाथ ,केदारनाथ तथा हेमकुण्ड साहिब की
यात्रा पर अवश्य आये। सरकार द्वारा चारधाम यात्रा मार्गो को पूरी तरह सुगम
बना कर सभी मार्ग खोल दिये गये है। लिहाजा वह हेमकुण्ड साहिब की यात्रा पर
आकर दुनिया को इस बात का सन्देश दे कि  उत्तराखण्ड के धामों की यात्रा
पूरी तरह से सुरक्षित है।  श्री रावत ने कहा कि अभी बे मौसम बरसात से
किसानों का जो नुकसान हुआ है उसके उचित मुआवजे के लिये सरकार पूरी तरह से
किसानों के साथ है । उन्होंने कहा कि किसानों का किसी प्रकार से उत्पीणन न
हो इसके लिये किसानों हेतु सहकारिता के क्षेत्र में एक साल तक वसूली न किये
जाने तथा 6 माह तक किसी भी प्रकार का ब्याज न लिये जाने का निर्णय लिया है
इसके अलावा किसानों को हल्दी/अदरक के बीजों में 75 प्रतिशत सबसिडी दी जा
रही
है तथा विद्युत के मामलों में 6 माह तक किसी प्रकार का सरचार्ज नही लिया जा
रहा है। उन्होंने कहा कि किसानों के नुकसान का सर्वे करा लिया गया है तथा
नुकसान के अनुसार मुआवजा देने के लिये जिलाधिकारियों को आदेशित कर दिया गया
है। इसके साथ ही केन्द्र सरकार को भी किसानों के नुकसान के बावत अवगत
कराते हुये केन्द्रीय सहायता दिये जाने की मांग की गई है।         
मुख्यमंत्री ने क्षेत्र के लोग की मांग पर नानकमत्ता को नगर पंचायत का
बनाये जाने ,उप मण्डी को पूर्ण मण्डी बनाये जाने,साधु नगर और सिडकुल के
मध्य कैलाश नदी पर पूल बनाये जाने तथा नानकतमत्ता में उप तहसील बनाये जाने
की धोषणा की। उन्होंने कहा कि मौसम की खराबी की वजह से सडक निर्माण कार्य
धीमी गति से हो पा रहा है जैसे ही मौसम ठीक होता है तो सडक निर्माण कार्यो
में तेजी लाई जायेगी। उन्होंने वर्ग-4 भूमि व अन्य भूमि प्रकरणों को मिल
बैठकर समाधान निकालने की बात कही। उन्होंने कहा कि वर्ग 4 की भूमि पर
मालिकाना हक दिये जाने के लिये गरीब वर्ग से कोई धनराशि नही ली जायेगी।
सिंचाई मंत्री श्री यशपाल आर्य ने नानकमत्ता डेरा कार सेवा प्रबन्ध कमेटी
के आयोजको को स्वर्ण पालकी के अनावरण के लिये बधाई दी । उन्होंने कहा कि
सरकार किसानों के हितों के लिये अपने संशाधनों के अनुसार उचित मुआवजा देगी।
साथ ही भूमि सम्बन्धी प्रकरणों को प्राथमिकता से निस्तारित किया जायेगा।
उन्होंने कहा कि उनकी सरकार द्वारा जो घोषणायें की गई है उन्हें हर हाल में
पूरा किया जायेगा।  
      इस अवसर पर गुरूद्वारा नानकमत्ता साहिब के प्रमुख डेरा कार सेवा
बाबा  तरसेम सिंह,बाबा सुरेन्द्र सिंह दिल्ली वाले,बाबा श्याम सिंह रीठा
साहिब,बाबा गुरजेन्ट ंिसह नानकपुरी टाडा,कै0 सुरजीत सिंह,हरदयाल
सिंह,राजपाल सिंह,गुरूद्वारा प्रबन्धक रणजीत सिंह,सुखविन्दर सिंह
भुल्लर,रणजीत सिंह के अलावा विधायक डाॅ0 प्रेमसिंह राणा,पुष्कर सिंह
धामी,पूर्व विधायक नारायण पाल, व गोपाल सिंह राणा, जिला पंचायत अध्यक्ष
ईश्वरी प्रसाद गंगवार,ब्लाक प्रमुख मंजू लता समेत सुरेश गंगवार,नारायण सिंह
बिष्ट सहित जिलाधिकारी डाॅ0 पंकज कुमार पाण्डेय व एसएसपी नीलेश आन्नद
भरणें व अन्य जिला स्तरीय अधिकारी आदि उपस्थित थें।

इनसाइड कवरेज न्यूज़ – www.insidecoverage.in, www.kashipurcity.com, www.adpaper.in

Leave a Reply