नहीं मिल पा रहा माँ-बाप को इन्साफ

गुरुग्राम: गुरुग्राम में रहने वाले  पड़े लिखे  डॉक्टर परिवार को बड़े ही बुरे
हालात से गुजरना पड़ रहा है आंखों के डॉक्टर सूरज मुंजाल व उनकी पत्नी डॉ
आशिता मुंजाल अपने ही मां-बाप को परेशान किया हुआ है कभी मां बाप पर गाली
गलोज तो कभी हाथापाई तक की नौबत सूरज मुंजाल पेशे से डॉक्टर है और अपने भाई
चंदन मुंजाल जो की एम् बी ऐ है उनके साथ मिलकर एक बड़े हॉस्पिटल को चलाते
हैं पर कुछ समय से सूरज मुंजाल व उनकी पत्नी ने अपने मां बाप (डॉ रमेश
चन्दर मुंजाल व डॉ चाँद मुंजाल )के साथ मारपीट जैसी घटनाओं को अंजाम दे रहे
हैं सूरज फोन पर भी अपने माँ बाप को गालियां देते हैं यह खबर सामने आई जब
डॉ रमेश चन्दर मुंजाल 71 वर्ष  व उनकी पत्नी डॉ चाँद मुंजाल 70 वर्ष ने
मीडिया के सामने आकर अपनी परेशानी प्रशाशन तक पहुँचाने की कोशिश की |

पीड़ित रमेश मुंजाल और उनकी पत्नी

रमेश मुंजाल ने बताया कि “पहले परिवार ने मिलकर आंखों के अस्पताल को
बनाया वे दोनों भाई अस्पताल को अच्छे तरीके से चलाने के लिए काम करते रहे
पर धीरे-धीरे अस्पताल अच्छा चलने लगा और मेरे बेटे सूरज मुंजाल को लगा की
जो फायदा होना चाहिए वह सूरज का  होना चाहिए जबकि कंपनी में 40% शेयर सूरज
मुंजाल व उनकी पत्नी के हैं और 40% शेयर चंदन गुंजा व उनकी पत्नी के हैं
20% मैंने मेरे और अपनी पत्नी के लिए रखें पर सूरज चाहता है की जो भी कमाई
हो सूरज व उसकी पत्नी की है इसको लेकर सूरज में रोजाना घर पर मैंने इस  बात
को लेकर कई बार सूरज को समझाने की कोशिश भी करी थी पर वह गाली गलोच पर उतर
आया और मेरे साथ वह मेरी पत्नी चांद मुंजाल को भी गालियां देकर बात करने
लगा फिर कुछ समय बाद उसने हमारे साथ हाथापाई की जिसकी शिकायत हमने कमिश्नर
गुडगांव को भी दी |

इसी बीच मेरे बेटे सूरज मुंजाल ने मेरे दूसरे बेटे चंदन मुंजाल को भी
परेशान करना शुरू कर दिया और धमकी दी उसके खिलाफ अगर कोई कार्यवाही की गई
तो वह झूठी झूठी कंप्लेंट अपने पिता और अपने भाई के खिलाफ करवाएगा और यह भी
कहा कि पुलिस कोर्ट मेरा कुछ नहीं बिगाड़ सकती सूरज नहीं माना वह लगातार
हमारे साथ बदतमीजी करने लगा तो हमने दिल्ली के ग्रेटर कैलाश फर्स्ट थाने पर
भी शिकायत दर्ज करवाई  पर अब तक हमारी कहीं भी FIR दर्ज नहीं हुई और ना ही
पुलिस ने इस मामले पर कोई खासा कार्रवाई करी हम चाहते हैं पुलिस सूरज व
उनकी पत्नी पर सख्त से सख्त कार्रवाई करें हम बुजुर्ग हैं हम भी नहीं चाहते
कि हमारे बेटे के साथ कुछ गलत हो पर बेटा हमारे साथ जब इतनी बदतमीजी कर
रहा है तो हमे लगता  हैं कि पुलिस सूरज को सबक सिखाएं मां बाप के साथ गलत
व्यवहार का गलत नतीजा होता है

यह संदेश उन लोगों को जाना चाहिए जो अपने माता पिता के साथ मारपीट
गाली-गलौज करते हैं मीडिया के माध्यम से अपनी बात प्रशासन तक पहुंचाना
चाहता हूं कि जो घटना मेरे साथ हो रही है जिसकी शिकायत मैंने ग्रेटर कैलाश
थाने में व कमिश्नर गुडगाँव को दी है उस पर जल्द से जल्द सख्त कार्रवाई हो | “

Leave a Reply