जिलाधिकारी ने किसानों की समस्याओं के त्वरित निस्तारण के दिए निर्देश

रुद्रपुर  –   जिलाधिकारी डाॅ0 पंकज कुमार पाण्डेय ने विकास भवन
सभागार में किसान बन्धु बैठक की अध्यक्षता की। उन्होंने किसानों द्वारा
उठायी गई प्रमुख समस्याओं को सुनते हुए संबन्धित अधिकारियों को आवश्यक दिशा
निर्देश देते हुए समस्याओं का त्वरित निस्तारण करने को कहा। आपदा के कारण
हुए फसल नुकसान पर बोलते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि राज्य में सभी किसानों
को एक ही मानक के अनुसार धनराशि दी जा रही है। उन्होंने कहा कि मुआवजा देने
के कार्यों में जो अधिकारी व कर्मचारी हीला हवाली करेगें, उनके खिलाफ सख्त
कार्यवाही की जायेगी। 
 
ग्राम भगवानपुर के किसान शेख अनवर हुसैन ने
जिलाधिकारी को बताया कि ग्राम बागवाला, कोलडिया के लेखपाल सुशील जुनेजा
द्वारा क्ष्ेात्र में मनमाने ढंग से किसानों को मुआवजा बांटा जा रहा है। इस
पर किसानों द्वारा आपत्ति जताये जाने पर लेखपाल द्वारा उन्हें फोन पर धमकी
दी जा रही है। मामले को गम्भीरता से लेते हुए जिलाधिकारी ने लेखपाल सुशील
जुनेजा को निलम्बित करने हेतु अपर जिलाधिकारी को निर्देश दिये हैं।
जिलाधिकारी ने विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिन नलकूपों
के उर्जीकरण हेतु सम्बन्धित विभागों से धनराशि मिल गयी है, उन्हें शीघ्र
उर्जीकृत किया जाये। जिलाधिकारी ने गन्ना विभाग के अधिकारियों को निर्देश
दिए कि जिन किसानों का गन्ना भुगतान अभी भी बाकी है, उसकी सूची शीघ्र
उपलब्ध करायें ताकि शासन से धनराशि की मांग की जा सके। किसानों द्वारा
बताया गया कि फौजी मटकोटा विद्युत लाईन में अक्षर विद्युत की समस्या रहती
है, इसपर जिलाधिकारी ने मौके पर जाकर इसका समाधान करने के निर्देश दिए।
किसानों द्वारा मटकोटा-दानपुर नहर, तीनपानी डाम से फुलसुंगा नहर तक
अतिक्रमण हटानें की बात कही गयी। जिस पर जिलाधिकारी ने सिंचाई विभाग के
अअधिकारियों को अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए। कृषकों द्वारा अवगत कराया
कि सिंचाई विभाग द्वारा नहरों की नियमित सफाई नहीं करवायी जाती है। जिस पर
जिलाधिकारी ने सिंचाई विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह मनरेगा से
नहरों की नियमित सफाई करवायें। किसानों द्वारा बताया गया कि नगला से लेकर
लालपुर तक सड़क निर्माण के कार्यों से पेयजल लाईने क्षतिग्रस्त हो रही हैं,
जिस पर जिलाधिकारी ने एडीबी के अधिकारियों व जलसंस्थान के अधिकारियों से
शीघ्र पेयजल लाईनें ठीक करने के निर्देश दिए। सितारगंज क्षेत्र के कृषकों
द्वारा अवगत कराया गया कि क्षेत्र में अधिकतर हैण्ड पम्प खराब हैं। जिस पर
जिलाधिकारी ने जल निगम/जलसंस्थान के अधिकाकरयों को हैण्ड पम्प शीघ्र ठीक
करने के निर्देश दिए। भगवानपुर के कृषकों द्वारा भगवानपुर एनएच से गुरदीप
सिंह के घर तक सडक ठीक करने को कहा गया। इस पर जिलाधिकारी ने सडक ठीक करने
के निर्देश दिए। बैठक का संचालन मुख्य कृषि अधिकारी पीके सिंह द्वारा किया
गया। उन्होंने बताया कि आपदा से हुए नुकसान का मुआवजा देने हेतु जिलाधिकारी
द्वारा 20 करोड़ रुपया आहरित किया गया था। प्रभावित किसानों को 1500 रु0
प्रति किसान की दर से यह राशि दी जा रही है। अभी तक जनपद में 54 हजार 804
किसानों को 09 करोड की धनराशि मुआवजे के रुप में दे दी गयी है।े
बैठक
में पीडी बाल कृष्ण, डीडीओं आरसी तिवारी,जिला उद्यान अधिकारी रतन
सिंह,जिला पूर्ति अधिकारी विपिन कुमार, एआर काॅपरेटिव मंगला प्रसाद
त्रिपाठी,ईई लोनिवि अशोक कुमार, ईई विद्युत प्रदीप कुमार समेत विभिन्न
विभागों के अधिकारी व किसान प्रीतम सिंह,तिलक राज गम्भीर,,यशवन्त
मिश्रा,सुक्खा सिंह, आदि लोग उपस्थित थें।
इनसाइड कवरेज न्यूज़ – www.insidecoverage.in, www.kashipurcity.com, www.adpaper.in

Leave a Reply