HDFC बैंक चोर है? क्रेडिट कार्ड के नाम पर धोखा ! HDFC Bank Customer Care Fraud

कैसे हुआ  क्रेडिट कार्ड के नाम पर धोखा ?

चुनावों के माहौल में चोकीदार चोर है का नारा बहुत बार बोला गया l लेकिन असली चोकीदार तो HDFC बैंक निकला l न्यूज़ वन नेशन को HDFC बैंक के उपभोक्ता ने बताया की कुछ महीने  पहले HDFC बैंक की तरफ से फोन आया और कहा गया की आप बैंक के बहुत पुराने ग्राहक है इसलिए आपके लिए बैंक द्वारा पर्सनल बैंकर अपोइन्ट किया गया है जो आपकी बैंक के मामले में सहायता करेगा l उसके बाद ग्राहक पर्सनल बैंकर की ओर से कई बार फोन आया की आपको  फ्री लाइफ टाइम क्रेडिट कार्ड का ऑफर दिया गया l और उन्हें बताया गया कि यह कार्ड बिलकुल फ्री है l आपका कभी भी कोई चार्ज नहीं कटेगा l HDFC के कर्मचारी बैंकर ने 5-6 बार कॉल करके इस लाइफ टाइम फ्री कार्ड के बारे में जानकारी दी l ग्राहक ने उनसे बार बार पूछा की इसकी कोई नियम या कंडीशन तो नहीं है l तो उन्होंने इस बारे में कोई भी जानकारी नहीं दी l कई बार फोन आने के बाद दिसम्बर 2018 में  जितेन्द्र जी ने कहा की क्रेडिट कार्ड जा आवेदन कर दें l तो पर्सनल बैंकर ने ऑनलाइन क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन स्टेप बाई स्टेप करवाया l लेकिन बार बार पूछने पर भी कोई टर्म्स एंड कंडीशन की जानकारी नहीं दी गई I और कुछ दिन बाद उनका कार्ड उन्हें भेज दिया गया l लेकिन 11 मई 2019 को जितेन्द्र के पास एक SMS आता है और उसमे बताया जाता है की आपके क्रेडिट कार्ड का चार्ज 2950 रुपये काटा जा रहा है l जबकि यह लाइफ टाइम फ्री कार्ड बताया गया था I

ग्राहक सेवा केंद्र के कर्मचारी ने छोड़ी नौकरी l  HDFC Bank Customer Care Fraud

जब जितेन्द्र जी ने अपने HDFC बैंक की बेंकर अंशु चौहान जिसने उनका क्रेडिट कार्ड का आवेदन करवाया था को फोन मिलाया तो वह एजेंट नहीं मिला और उनके बदले अनुज कुमार नाम के बेंकर ने उनसे बात की l जब उन्हें सारी जानकारी दी गई तो बेंकर ने बताया कि आप क्रेडिट कार्ड हेल्पलाइन इमेल पर इसकी जानकारी भेजें तो आपका पैसा रिफंड किया जायगा l तो जितेन्द्र ने HDFC बैंक को मेल किया l अगले दिन वहां से रिप्लाई आया की क्रेडिट कार्ड की टर्म्स और कंडीशन में यह लिखा है की आपने 3 महीने के अन्दर कोई यूटिलिटी बिल नहीं जोडा है, इसीलिए आपका चार्ज काटा जायगा l लेकिन यह बात उनके बेंकर ने एक बार भी नहीं बताई , 5 से 6 बार कॉल किया लेकिन एक बार भी इसकी जानकारी नहीं दी गई l ग्राहक ने बार बार उनसे पुछा कोई कंडीशन हो तो जरुर बताएं I लेकिन एक बार भी कोई जानकारी नहीं दी गई l

इसके बाद जितेन्द्र ने ऑनलाइन अपने पर्सनल बेंकर से कई बार बात की इस बार साहिल नाम के कार्यकर्त्ता ने बात की l उन्होंने कहा की हम आपको की गई पुरानी कॉल डिटेल की जांच करेंगे की हमें क्रेडिट कार्ड की कोई कंडीशन बताई गई है या नहीं l लेकिन उसमे भी उन्हें कुछ नहीं मिला l अंत में साहिल जी ने हमें कहा की आपका क्रेडिट कार्ड जिस कर्मचारी ने ऑनलाइन करवाया था l वह अब नहीं हैं और नौकरी छोड़कर चली गई है l इसलिए अब आपके पैसे रिवर्स नहीं हो सकेंगे l

लोकल बैंक की शाखा ने नहीं की कोई सहायता

जब ग्राहक लोकल बैंक की शाखा (काशीपुर, जिला उधम सिंह नगर, उत्तराखंड) में इस मामले की जानकारी दी तो क्रेडिट कार्ड ऑफिसर और HDFC बैंक के मेनेजर ने कहा की आपकी यहाँ कोई सहयता नहीं की जा सकती l अगर आपने शाखा से क्रेडिट कार्ड का आवेदन किया होता तो इसकी सभी कंडीशन बताई जाती l लेकिन आपने ऑनलाइन क्रेडिट कार्ड का आवेदन किया है तो ऑनलाइन ही बात करें l शाखा वाले इसमें कोई सहायता नहीं कर सकते l इस पर ग्राहक ने शाखा में क्रेडिट कार्ड को बंद करने का फॉर्म भर दिया l

उपभोक्ता फॉरम और रिज़र्व बैंक की लेंगे सहयता

इसके बाद जितेन्द्र जी ने HDFC बैंक के खिलाफ उपभोक्ता फॉरम में जाने का फैसला लिया है और रिज़र्व बैंक के सहायता मंच पर भी अपील करने की बात कही l और साथ में मीडिया के साथ- साथ सोशल मिडिया में भी HDFC बैंक की इस लूट का पर्दाफाश करके ग्राहकों को जागरूक करने का फैसला लिया है l उन्होंने न्यूज़ वन नेशन को कहा की इस मामले में आगे जो कुछ भी होगा उसकी पूरी जानकारी दी जायगी l जिससे सभी पाठक इस धोखा धड़ी से सीख सकें और धोखे बाज़ बेंको के झांसे में ना आयें l

आपके साथ भी अगर ऐसा हुआ हो तो अपनी बात जरुर साझा करें l न्यूज़ वन नेशन इस खबर की आगे की जानकारी आपके लिए जरुर लेकर आयगा और उपभोक्ता फोरम और रिज़र्व बैंक ने जितेन्द जी का कितना साथ दिया आपको पूरी सच्चाई बताई जायगी l आप इस खबर को अपने मित्रो और रिश्तेदारों के साथ जरुर साझा करें l ताकि कभी भी कोई बैंक या कंपनी किसी उपभोक्ता के साथ इस प्रकार की धोखा धडी ना कर सके l जय हिन्द जय भारत

Leave a Reply